योग के माध्यम से मस्तिष्क और शरीर का होता है संगम: जेपी नड्डा

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर दिल्ली के 300 स्थानों पर योग शिविरों का किया गया आयोजन
मे. अनस सिद्दीकी
नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर भाजपा दिल्ली प्रदेश की ओर से दिल्ली के 300 स्थानों पर योग शिविरों का आयोजन किया गया। शुक्रवार को दिल्ली की सुबह पार्कों व मुख्य स्थानों पर दिखा अद्भुत नजारा, केन्द्रीय मंत्री, सांसदों, प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी, विधायक, निगम पार्षद, मंडल अध्यक्ष सहित स्थानीय कार्यकर्ताओं ने मंडलों में कार्यकर्ता समेत दिल्ली के लाखों लोगों ने एक साथ मनाया 5वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस। भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के कहा कि आज मैं 5वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सभी देशवासियों को शुभकामनायें देता हूं और योग को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्धि दिलवाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को हृदय से बधाई एवं शुभकामनायें देता हू्रं। योग सकारात्मक ऊर्जादायी प्रक्रिया है जिसे दिनचर्या में अपनाकर कोई भी व्यक्ति स्वस्थ रह सकता है। हर दिन प्रत्येक व्यक्ति करे योग रहे निरोग। भाजपा उत्तर पूर्वी जिला की ओर से पुराना उस्मान पुर गांव मे योग शिविर का आयोजन किया गया जिसमे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह, केंद्रीय मंत्री पुरूषोत्तम रूपाला सहित भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने योगा यास कर शिविर में आए सैकड़ों कार्यकर्ताओं एवं क्षेत्रीय निवासियों को योग के प्रति प्रोत्साहित किया। तत्पश्चात मनोज तिवारी ने केशव चौक शाहदरा के झील पार्क एवं श्यामलाल कॉलेज के प्रांगण में होने वाले योग शिविरों में भी भाग लिया। योगा यास करने आए लोगों को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह ने कहा कि योग मन, मस्तिष्क एवं शरीर का एक अभ्यास है। योग की विभिन्न शैलियां होती हैं जिनमें शारीरिक मुद्राएं सांस लेने की टेक्निक और मेडिटेशन एवं रिलैक्सेशन आदि शामिल है। योग सिर्फ व्यायाम भर नहीं है,बल्कि विज्ञान पर आधारित शारीरिक क्रिया है। इसमें मस्तिष्क, शरीर और आत्मा का एक-दूसरे से मिलन होता है। साथ ही मानव और प्रकृति के बीच एक सामंजस्य कायम होता है। यह जीवन को सही प्रकार से जीने का एक मार्ग है। गीता में भी कृष्ण ने कहा है कि योग कर्मसु कौशलम यानी योग से कर्मों में कुशलता आती है। योग शब्द संस्कृत भाषा के युज से लिया गया है जिसका अर्थ है एक साथ जुडना। मन-मस्तिष्क एवं शरीर पर नियंत्रण रखने एवं खुशहाल जीवन के लिए योग काफी लोकप्रिय है। देखा जाए तो योग प्राचीन काल से ही भारतीय संस्कृति का हिस्सा रहा है लेकिन पिछले कुछ सालों से यह बहुत अधिक लोकप्रिय हो गया है। योग और ध्यान को अध्यात्मिक और वैज्ञानिक दृष्टि से हमारे शरीर को स्वस्थ बनाने के लिए अनिवार्य माना गया है। योग के माध्यम से मस्तिष्क और शरीर का संगम होता है। योग का अभ्यास हमारे मन को संयमी बनाता है। केन्द्रीय मंत्री थावर चन्द गहलोत ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक भारत श्रेष्ठ भारत निर्माण के लिए पहले स्वच्छ भारत अभियान चलाया और उसके बाद स्वस्थ भारत की प्रेरणा को पूरे विश्व पटल पर प्रचारित कर भारत के गौरव और स मान को बढाया है न सिर्फ देश के करोड़ों लोग योगा यास कर अपने स्वस्थ्य जीवन की बुनियाद को मजबूत कर रहे हैं। केन्द्रीय मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि योग विश्व के सभी देशों की दिनचर्या का हिस्सा बन गया है क्योंकि नित्य योग करने से हर व्यक्ति के जीवन में शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य का संयोग बनता है इसलिए हम सब को नित्य योग कर अपने जीवन को आदर्श बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए योग रथ दुनिया भर में चल पड़ा है और हम सबको इसका सारथी बनना चाहिए। इस अवसर पर उपस्थित लोगो को संबोधित करते हुए कहा मनोज तिवारी ने कहा कि भारत में ऋ षियों मुनियों द्वारा सैकड़ों बरसों से योग का प्रचार प्रसार किया जा रहा था लेकिन भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूरे विश्व को भारत की योग शक्ति का लोहा मनवाया और उसका परिणाम है कि आज विश्व के सभी देशों में इसी तरह धूमधाम से योग दिवस मनाया जा रहा है और करोड़ों लोग योगा यास कर अपने स्वास्थ्य की गारंटी सुनिश्वित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग चाहकर भी योग से सिर्फ इसलिए दूर रहें क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूरे विश्व में योग को एक विशेष पहचान दी है और यह वही लोग हैं जो राजनैतिक स्वार्थ के लिए गरीबों की आयुष्मान योजना को रोक कर लाखों लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा से वंचित कर रहे हैं और योग से अपने को दूर कर अपने स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सांस्कृतिक बुनियाद रखकर पूरे विश्व में भारत को विश्व गुरु बनाने की बुनियाद को मजबूत कर दिया हैं।


Popular posts
Global Vision of Jalan
Image
दिवाली मिलन कार्यक्रम में पहुंच सकते हैं पत्रकारों की आड़ में चोर उचक्के
इम्यून सिस्टम को मजबूत कर रही जन्नती ढाबा की हांडी स्पेशल निहारी
Image
चांदनी चौक की जनता के साथ हुए अन्याय पर जय प्रकाश अग्रवाल ने की चर्चा
Image
अपराध संवाददाता नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मोस्ट वांटेड आतंकवादी अब्दुल माजिद बाबा को श्रीनगर से गिरफ्तार किया है। इस आतंकी की गिरफ्तारी पर पुलिस ने दो लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार किया गया आतंकी कोर्ट से सजा सुनाए जाने के बाद वर्ष 2015 में अपने दो साथियों के साथ फरार हो गया था, तभी से पुलिस को इसकी तलाश थी। खुफिया सूचना के आधार पर माजिद बाबा को शनिवार शाम श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया। करीब डेढ़ माह पहले ही इसके एक साथी आतंकी फय्याज अहमद लोन को भी स्पेशल सेल ने पकड़ा था। पुलिस इससे पूछताछ कर फरार तीसरे साथी बशीर उर्फ पोनू की की जानकारी निकालने में लगी है। स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव ने बताया कि पुलिस के हत्थे चढ़ा अब्दुल माजिद 2007 में साथियों के साथ विस्फोटक लेकर दिल्ली आया था। कब केंद्रीय खुफिया इकाइयों से सूचना मिली थी कि जैश-ए- मोहम्मद के पाकिस्तानी कमांडर फारुख कुरैशी ने जम्मू-कश्मीर के एरिया कमांडर हैदर उर्फ डॉक्टर को दिल्ली में बडी आतंकी वारदात को अंजाम देने का निर्देश दिया। इसके लिए बांग्लादेश सीमा के रास्ते भारत में प्रवेश करने वाले पाकिस्तानी आतंकी शाहिद ग फूर, अब्दुल माजिद बाबा, फय्याज अहमद लोन और जैश कमांडर बशीर अहमद पोनू उर्फ मौलवी मालवा एक्सप्रेस ट्रेन पर सवार होकर दिल्ली पहुंचे थे। डीसीपी के अनुसार जैसे ही चारों बैग में हथियार एवं विस्फोटक लेकर दिल्ली के दीनदायाल उपाध्याय मार्ग होते हुए रंजीत सिंह फ्लाईओवर के समीप पहुंचे तो पुलिस ने इन्हें घेर लिया। तब इन्होंने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी फायरिंग के बाद इन्हें पकड़ा गया। इनके पास से .3 बोर की पिस्लौल, तीन किग्रा विस्फोटक, 50 हजार नकद ओर 10 हजार यूएस डॉलर बरामद हुए। जम्मू-कश्मीर के सोपोर जिले के माग्रेपुरा गांव का रहने वाला आतंकी अब्दुल माजिद बाबा 2007 में अपने दो कश्मीरी साथियों फय्याज अहमद लोन एवं जैश कमांडर बशीर अहमद पोनू उर्फ मौलवी और पाकिस्तानी आतंकी शाहिद गफ्फूर के साथ पकड़ा गया था। इसमें से पाकिस्तानी को तो निचली कोर्ट से ही सजा मिल गई थी लेकिन माजिद, फय्याज और बशीर को बरी कर दिया गया था। इस पर स्पेशल सेल ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया तो तीनों को उम्रकैद की सजा मिली। सजा मिलते ही तीनों फरार हो गए थे। स्पेशल सेल के मुताबिक इन तीनों के फरार होने के बाद दिल्ली उच्च न्यायालय ने इनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। तभी से स्पेशल सेल की टीम लगातार इनकी तलाश में जुटी थी। इस दौरान ही पिछले महीने सेल ने फय्याज अहमद लोन को गिरफ्तार किया था। अब गुप्त सूचना के आधार पर स्पेशल सेल ने श्रीनगर से इस शातिर आतंकी अब्दुल माजिद बाबा को दबोच लिया। स्पेशल सेल आरोपित को लेकर दिल्ली आ रही है। उससे पूछताछ कर अब उसके आतंकी नेटवर्क का खुलासा किया जाएगा। जम्मू कश्मीर में सीआरपीएफ पर हुए हमले के बाद आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई में जुटी एजेंसियों ने स्थानीय व केंद्रीय खुफिया इकाइयों की मदद से संदिग्धों की सूची तैयार करनी शुरू की। इस दौरान इस फरार आतंकी के बारे में जानकारी मिली तो सुरक्षा एजेंसियों से इसकी डिटेल साझा किया गया। इसके बाद पुलिस टीम लगातार इसकी गतिविधि पर नजर रखने लगी। इस बीच इसकी गतिविधि की जैसे ही जानकारी मिली, स्पेशल सेल की टीम ने उसे धर दबोचा। पुलिस के हत्थे चढ़ा आतंकी जैश का नेटवर्क खड़ा करने में जुटा था। इसमें खासतौर से कश्मीरी नौजवान उसके निशाने पर थे। वहीं उसके साथ फरार हुए दोनों साथी भी जैश के नेटवर्क का विस्तार करने मे जुटे थे। यह खुलासा मामले की जांच में जुटी स्पेशल सेल की टीम ने किया। हालांकि फरार इन आतंकियों ने जैसे ही पिछले तीन महीने से जैश की जमीन तैयार करने का गुपचुप खेल शुरू किया, पुलिस की नजर में आ गए। इसके बाद पुलिस ने करीब डेढ़ महीने पहले फय्याज को दबोचा। इसके बाद माजिद को भी धर दबोचा।